Sansad Adarsh Gram Yojana (SAGY) Objectives & Benefits

Sansad Adarsh Gram Yojana को 11th October 2014 नरेन्द्र मोदी ने प्रक्षेपित किया गया था| SAGY को महात्मा गांधी की बिलीफस और नियमो के अनुसार बनाया गया है| आपको यहाँ से संसद आदर्श गाँव योजना के Objectives और जानिए कैसे किसी गाँव को SAGY के तहत आदर्श गाँव के लिए चुना जाता है|

Sansad Adarsh Gram Yojana (SAGY)

हमारे प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने Saansad Adarsh Gram Yojana (SAANJHI) की स्वातंत्र्य दिन को घोषणा की गयी थी| इस स्कीम को 11th ओक्टोबर 2014 को जय प्रकाश नारायण के जन्मदिन पर launch किया गया था|

इस योजना के लिए महात्मा गाँधी के सिध्धांतो और मूल्यों पर ज्यादा भार दिया गया है| इस योजना के तहत गाँवों में इंफ्रास्ट्रक्चर के साधन बसाए जाएंगे जिससे गाँव का डेवलपमेंट हो पाए|

सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत गाँव के लोगो के जीवन में नए सुधार आयेगे| इस वजह से उन्हें नयी तके और सवलते प्राप्त होगी जिससे वह और तरक्की कर पाएंगे| यह योजना बेहद ही अद्वितीय और फ्लेक्सिबल है और इस योजना का मुख्य गोल विकास है|

Sansad Adarsh Gram Yojana Objectives

इस योजना के तहत हमारे देश के गाँवों के क्षेत्रो में जैसे की खेती, स्वास्थ्य, शिक्षण, स्वच्छता, पर्यावरण, रोजीरोटी आदि में सुधार लाया जाएगा|

इस योजना के अंतर्गत हमारी गवर्नमेंट बुनियादी सेवाओं को बढ़ाना था और इतना ही नहीं वह कुछ सेवाओ का मूल्य बढ़ाना चाहते थे जैसे की अन्त्योदय, लडको और लडकियो में समानता, महिलाओ की गरिमा बनाये रखना, स्वच्छता, आदि| गांव के लोगो में और गाँव में आने वाला परिवर्तन सबके लिए मिशाल होना चाहिए|

इस स्कीम का main गोल 2019 तक देश के तिन गाँवों को आदर्श ग्राम बनाने का था जो की 2016 में ख़त्म हो गया था| इसके बाद, 5 गाँवों को 2024 तक आदर्श गाँव बनाने का भी गोल है|

संसद आदर्श ग्राम योजना के Objectives

इस योजना का मुख्य हेतु मौजूदा योजना और नयी योजनाओ को प्रक्षेपित कर के आधार ग्राम को बढ़ावा देके गाँव के लोगो को अच्छा जीवन निर्वाह कर पाएगे और पुरे गाँव का विकास करवाने होगे|

गाँव के लोगो में गुणवत्ता सभर जीवन स्तर के लिए – उनकी बुनियादी सेवाओं में सुधार लाना चाहिए, उत्पादकता में बढौतरी, मानव विकास, बेहतर आजीविका के लिए तके, असमानताओ को कम करके, अपने अधिकारों को जान सकेगे और प्राप्त कर सकेंगे|

इस योजना के तहत एक आदर्श गाँव बनाया जाएगा जो की सबके लिए एक मॉडल प्रदान करे जिससे पडोशी ग्राम भी इससे प्रभावित हो और उस ग्राम के जैसा विकास करे|

इस योजना के तहत उस आदर्श ग्राम को एक स्कूल के तौर पर लिया जाएगा और दुसरे गाँव भी प्रभावित होकर विकास कर पाएंगे|

SAGY के तहत आदर्श गांव के लिए गांव कैसे चुना जायेगा?

इस योजना के तहत ग्राम पंचायतो को कुछ शर्तो के आधार पर आदर्श ग्राम के लिए चुना जाएगा|

जो भी ग्राम पंचायत में जन संख्या 3000 से 5000 जो की Plain एरिया में और पहाड़ी विस्तारो में 1000 से 3000 होनी चाहिए|

Saansad Adarsh Gram Yojana In Hindi

पार्लिआमेंट का मेम्बर कोई भी अनुरूप ग्राम पंचायत को विकास की और ले जाने के लिए और आदर्श ग्राम बनाने के लिए सेलेक्ट कर सकता है| वह मेम्बर अपना खुद का गाँव या फिर अपने पत्नी/पति का गाँव भी आदर्श ग्राम बनाने के लिए पसंद कर सकता है|

संसद मेम्बर कुल तिन गाँव आदर्श ग्राम बनाने के लिए पसंद कर सकता है|

इतना ही नहीं इस योजना के तहत लोकसभा के सभ्य भी अपने मत्विस्तर मे से कोई गाँव आदर्श गाँव बनाने के लिए पसंद कर सकता है| सिर्फ लोकसभा का सभ्य ही नहीं पर इस योजना के तहत राज्यसभा के सभ्य भी अपने मतविस्तार के किसी गाँव को आदर्श गाँव के लिए पसंद कर सकते है|

कुछ राज्यसभा के सभ्य जिनको किसी सेक्टर का मंत्री पद पे नामांकित हो वह अपने मतविस्तार से आदर्श ग्राम बनाने के लिए कोई भी गाँव को पसंद कर सकते है|

अगर कोई ग्राम पंचायत किसी सदस्य के रहते आदर्श ग्राम के लिए पसंद किया गया हो और उस सदस्य का कार्यकाल ख़त्म हो जाए तो वह ग्राम पंचायत को संसद आदर्श ग्राम योजना के तहत आदर्श गाँव बनेगा|

नया सदस्य भी इस योजना के तहत अपने मतविस्तार से कोई गाँव आदर्श गाँव के लिए पसंद कर सकता है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *