Gobar Dhan Yojana Objectives & Implementation

Gobar Dhan Yojana के बारे में जानकारी हासिल करे और Gobar Dhan Yojana Objectives, Impact & GOBAR DHAN Yojana Implementation & Gobar Dhan Scheme के बारे में जाने

Gobar Dhan Yojana Details

गाँवों में जनजीवन सुधारने और गाँवों को स्वच्छ करने के लिए Gobar Dhan Yojana(Galvanizing Organic Bio-Agro Resources – Dhan Yojana) शुरू की गयी थी। Gobar Dhan Yojana फरवरी 2018 में घोषित की गयी थी।

Swachh Bharat Mission (Gramin) के जरिये गाँवों को स्वच्छ करना है। स्वच्छ भारत मिशन का उद्देश्य खुले शौचालय से मुक्त गाँव और घन एवं प्रवाही कचरे का मैनेजमेंट कर के गाँवों को स्वच्छ बनाया जाएगा।

भारत के ग्रामीण क्षेत्र में पशु शौच, रसोई का कचरा, फसल का कचरा एवं मार्किट का कचरा प्राप्त होता है। इतना ही नहीं 2012 के सर्वे अनुसार 5257 टन कचरा सिर्फ पशुधन से होता है।

2014 के कृषि सर्वे अनुसार, 620 मिलियन फसल का कचरा, 300 मिलियन टन कचरा, 100 मिलियन टन कचरा खेत में ही जला देते है

अगर देखा जाए तो हम पशु गोबर, लकडिया एवं फसल के कचरे को रसोई बनाने के लिए यूज़ करते है। पर यह घर में प्रदूषित हवा फैलता है। इस प्रदुषण से युवा बच्चे बीमार हो सकते है।

इस बीमारी को रोकने एवं कचरे से शक्ति और वेल्थ प्राप्त करने के हेतु से पशु गोबर और कृषि के कचरे से कम्पोस्ट खाद एवं बायोगैस निर्मित किया जाएगा।

gobardhan yojana

Gobar Dhan Scheme In Hindi

Gobar Dhan Yojana की पहल से बायो कचरे को स्त्रोत में तब्दील किया जाएगा। यह पहल गाँवों को स्वच्छ रखने के मिशन Swachh Bharat Mission को पूर्ण करती है। इतना नहीं किसानो को और परिवारों को भी आर्थिक रूप से मददरूप होगा और यह ईंधन के रूप में भी काम आएगा।

Gobar Dhan Yojana के तहत लोगो को जोड़ने की उम्मीद है की वह भी इस पहल के चलते अपना योगदान प्रदान करे।

Gobar Dhan Yojana Objectives

GOBAR-Dhan Yojana  का मुख्य उद्देश्य गाँवों को कचरे के प्रबंधन स्वच्छ रखना है।

Gobardhan Yojana से बायो कचरे से पर्यावरण का बुरा प्रभाव कम करना है।

इस योजना का ऑब्जेक्टिव बायो गैस से ग्रामीण क्षेत्र के लोगो की आय में वृद्धि करना। 

gobardhan scheme details

Impacts Of Gobar Dhan Yojana

Gobardhan Yojana के अंतर्गत बहुत सी पर्यावरण और ग्रामीण क्षेत्रो में बहुत सी इम्पैक्ट होगी।

Energy

इस योजना के अंतर्गत बायो वेस्ट को बायो गैस में तब्दील किया जाएगा और इससे काम प्रदुषण होगा। जंगलो पर निर्भरता कम होगी जिससे जंगल भी बचेंगे।

Empowerment 

घरो में बायोगैस यूज़ होने से घर के अंदर होनेवाला प्रदुषण काम हो जाएगा। इससे गृहिणिओ की बचत भी हो जाती है।

Employment

ग्राम्य क्षेत्रो के युवाओ और सेमि स्किल तकनीकीशियनो  को रोजगारी की तक प्राप्त हो सकती है और अच्छी जॉब भी मिल सकती है जैसे की, बायो वेस्ट को जमा करना, ट्रीटमेंट प्लांट का प्रबंधन आदि। 

Gobar dhan yojana impact

Gobar Dhan Yojana Implementation

Gobar Dhan Yojana के तहत 2018-19 में 700 जिलों में और 350 जिलों में पायलट प्रोजेक्ट लागु की जाएगी।

इस योजना को SBM-G गाइडलाइन के तहत SLWM फंडिंग पैटर्न से लागु की जाएगी। SBM-G गाइडलाइन के तहत SLWM प्रोजेक्ट के लिए ग्राम पंचायत के प्रति घर के हिसाब से प्रोजेक्ट कार्य करेगा।

हर एक ग्राम पंचायत में 150 घरो के लिए 7 लाख, 300 परिवारों के लिए 12 लाख रुपये, 500 परिवारों के लिए 15 लाख रुपये  और 500 से ज्यादा परिवारों के लिए 20 लाख रुपये प्रदान किये जाएगे। सरकार ने इस रकम को चुकता करने के लिए 60:40 का प्रमाण  तय किया है।

अब, जो भी ग्राम पंचायतो को स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत फण्ड प्राप्त नहीं होता वह GOBAR-DHAN Yojana के तहत लाभ प्राप्त कर सकते है।

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *