HRIDAY Scheme Details, Objectives, Benefits & Budget

National Heritage City Development & Augmentation Yojana (HRIDAY Scheme) के चलते हुए हमारे देश में जो भी शहर विरासटी स्थान को हमारी गवर्नमेंट के जरिये अपग्रेड किया जाएगा| नेशनल हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ऑग्मेंटशन योजना के Objectives, Benefits और नेशनल हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ऑग्मेंटशन योजना Budget

National Heritage City Development and Augmentation Yojana(HRIDAY)

National Heritage City Development & Augmentation Yojana(Hriday) को 21 जनवरी 2015 में प्रक्षेपित किया गया है| इस योजना का मुख्य उदयेश विरासत शहरी क्षेत्रो में विरासत संरक्षण का है|

You may also find here:

HRIDAY Scheme के तहत विरासत संरक्षण के लिए बुनियादी सुविधाओ के विकास में प्रोजेक्ट्स तैयार किये जाएगे| इन प्रोजेक्ट्स में स्मारक , घाट, मंदिर आदि विरासतों का शहरी ढांचे से पुनरोद्वार किये जाएगे| कुछ Intangible संपत्तिओ का भी पुनरोद्वार करने के लिए और उन विरासतों को सफाई, सार्वजनिक परिवहन की सुविधाए और सडके आदि सेवाओ के विकास प्रोजेक्ट्स भी शामिल है|

national heritage city development and augmentation yojana In Hindi

National Heritage City Development and Augmentation Yojana के तहत 4 साल की अवधि में प्रोजेक्ट्स पुरे किये जाएगे| इन प्रोजेक्ट्स के लिए हमारी गवर्नमेंट ने 500 करोड़ रुपये का बजट तय किया है इस योजना के तहत कुल 12 शहेरो को इस योजना में शामिल किये जाएंगे जैसे की अजमेर, अमरावती, अमृतसर, बादामी, द्वारका, गया, कांचीपुरम, मथुरा, पुरी, वाराणसी, वेलंकानी और वारंगल आदि|

नेशनल हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ऑग्मेंटशन योजना Objectives 

HRIDAY योजना का मुख्य उदयेश विरासत स्थानों के मंदिर, घाट एवं स्मारकों को डेवलपमेंट के लिए प्लानिंग और इम्प्लीमेंटेशन किया जाएगा|

ऐतिहासिक शहेरो के मुख्य क्षेत्रो में सेवा विवरण और बुनियादी सेवाओ के विकास के लिए व्यवस्था की जाएगी|

विरासत स्थानों को संरक्षण और पुन:जिवन प्रदान कर के शहेरो के अनूठे चरित्र में जोड़ा जा सके ताकि पर्यटको को वहा पे घुमने में दिक्कत ना आये|

HRIDAY Scheme के तहत विरासती शहेरो के शहेरी नियोजन, विकास, सेवा प्रावधान और वितरण के लिए  आधार के रूप में प्राकृतिक, सांसकृतिक, निर्मित विरासत को विकसित करने के लिए, और विरासती स्थानों की सूचि और सूचि के अनुसार दस्तावेज तैयार करवाना|

सार्वजनिक सुविधाए जैसे की शौचालयों, पानी के नल, स्ट्रीट लाइट्स जैसे पर्यटन सुविधाओ के लिए सुधार के लिए नयी प्रोधोगिकियो को बनाया जाएगा और सुविधाए प्रदान की जाएगी|

इतना ही नहीं इस योजना का एक यह भी उदयेश है जिस वजह से विरासत आधारित उद्योग के लिए स्थानीय क्षमता में वृद्धि की जा सके|

नेशनल हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ऑग्मेंटशन योजना Benefits

इस योजना की वजह से विरासत शहेरो में विरासती स्थान देखने के लिए बहुत से प्रवासी वहा आते है और इस स्कीम के तहत शहेरो में कम जोखिम और टूरिज्म की गुणवत्ता बढाइ जाएगी जिससे टूरिज्म से होने वाली आय में भी बढौतरी होगी|

इस योजना की वजह से 12 शहेरो में सेवा और सुविधाए बढाई जाएगी और लोगो के जीवनमें भी सुधार आएगे जिसकी वजह से वहा पे रहने वाले लोगो के रहणी करणी में भी बदलाव आएगा|

hriday scheme pdf

वृद्धि परियोजना भारत में और अधिक में अधिक वैश्विक पर्यटनो के बारे में लाएगा और इस वजह से भारत में बेहतर पर्यटन प्रणाली की वजह से पर्यटन क्षेत्र में आय की बढौतरी होगी|

Find Here:

नेशनल हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ऑग्मेंटशन योजना Budget

इस योजना के तहत भारत सरकार ने 500 करोड़ रुपये का बजट तय किया गया था|  इन 500 करोड़ रुपयो में से 12 विरासत शहेरो को इन में से बजट तय किया जाएगा|

HRIDAY Scheme Budget
Ajmer(Rajsthan) 40.4
Amaravati(Andhra Pradesh) 22.26
Amritsar(Punjab) 69.31
Badami(Karnataka) 22.26
Dwarka (Gujarat) 22.26
Gaya (Jharkhand) 40.04
Kanchipuram(Tamilnadu) 23.04
Mathura(Uttar Pradesh) 40.4
Puri (Odisha) 22.54
Varanasi(Banaras) 89.31
Velankanni(Tamilnadu) 22.26
Warangal(Hydrabad) 40.54

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *