National Apprenticeship Promotion Scheme Registration & Objective

National Apprenticeship Promotion Scheme स्टूडेंट के लिए बेहद जरूरी है| आइये आज हम NAPS Yojana के बारे में जानकारी प्राप्त करेगे जैसे की, National Apprenticeship Promotion Scheme Registration, Objective, Implimentation and अधिक जानकारी प्राप्त करे|  

National Apprenticeship Promotion Scheme

नेशनल अप्रेंटिसशिप प्रमोशन स्कीम २०१६ में मोदी सरकार ने लागू की थी| अप्रेंटिसशिप को बढ़ावा देने के लिए इस योजना को लॉन्च किया गया था| इस योजना का उद्देश्य 50 लाख से भी ज्यादा स्टूडेंट जो अप्रेंटिसशिप कर रहे है उन्हें ज्यादा स्टिपेन्ड दिया जाए और अच्छी जॉब की तक प्राप्त होगा| इस योजना के लिए भारत सरकार ने 10,000 करोड़ का बजट प्रदान किया गया है| 

National apprenticeship Training  scheme को तालीम और प्रशिक्षण अधिकारी श्री डायरेक्टरेट जनरल द्वारा इम्प्लीमेंट किया गया है| जो भी उत्पादक अपरेंटिस ट्रेनिंग प्रदान करेगा उसे इस योजना के तहत वित्तीय फायदा दिलवाया जाएगा|अपरेंटिस करनेवाले विद्यार्थीओ को भी 25% ज्यादा स्टिपेन्ड दिया जाएगा|

national apprenticeship promotion scheme (naps)

National Apprenticeship Promotion scheme Objectives

इस योजना का मुख्य ऑब्जेक्टिव अपरेंटिस करने वाले स्टूडेंट्स और कंपनीओ को बढ़ावा देना है| उसके साथ स्टूडेंट्स को ज्यादा स्टिपेन्ड दिलवाना है और कंपनीओ को अपररेंटिस ट्रेनिंग के चलते जो भी खर्चा होता है उसका भुगतान भी सरकार करेगी|

National Apprenticeship Promotion Scheme Components

स्टूडेंट्स – इस योजना के तहत अपरेंटिस करनेवाले स्टूडेंट को 25 प्रतिशत ज्यादा स्टिपेन्ड दिया जाएगा|

एम्प्लायर – जो भी कंपनीआ इस योजना के तहत स्टूडेंट्स को ट्रेनिंग देते है उन्हें भारत सरकार की तरफ से ट्रेनिंग के तहत होने वाला खर्चा प्रदान किया जाएगा|

Requirement of National Apprenticeship Promotion Scheme

नेशनल अप्रेंटिसशिप प्रमोशन स्कीम ख़ास तरीके से सिर्फ अपरेंटिस ट्रेनिंग के लिए विद्यार्थीओ और उत्पादकों के लिए लांच की गयी है| इस स्कीम की वजह से उत्पादकों को और ट्रेनिंग लेने वाले विद्यार्थीओ के लिए भी बेहद लाभ प्राप्त हुए है|

NAPS scheme Implementation Agency

इस योजना के लिए दो एजेंसी तैनात की गयी है जो की इस योजना के तहत होने वाले सभी कार्य संभालेंगे|

1. रीजनल डायरेक्टरेट ऑफ़ अप्रेंटिसशिप ट्रेनिंग

2. स्टेट डायरेक्टरेट ऑफ़ अप्रेंटिसशिप ट्रैनिंग

1. रीजनल डायरेक्टरेट ऑफ़ अप्रेंटिसशिप ट्रेनिंग – यह एजेंसी केंद्र स्तर के पब्लिक सेक्टर में होने वाली अप्रेंटिसशिप के सभी मुद्दों को कण्ट्रोल करेंगे|

2. स्टेट डायरेक्टरेट ऑफ़ अप्रेंटिसशिप ट्रैनिंग – यह एजेंसी राज्य स्तर के पब्लिक और प्राइवेट सेक्टर की कंपनीओ में होने वाली ट्रेनिंग और उसके रिलेटेड मुद्दों का कण्ट्रोल करेगी|

national apprenticeship promotion scheme login

Eligibility to take advantage of the Scheme

Employer Eligibility

अगर एम्प्लायर इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करना चाहता हो तो उसे सरकार द्वारा तैयार किये गए कुछ नियमो और शर्तो का पालन करता होना चाहिए|
जैसे की,
एम्प्लायर को अपने फर्म की कैपेसिटी के हिसाब से 2.5 % और 10 % हिस्से जितने अपरेंटिस को तालीम देनी होगी|

एम्प्लायर के फर्म के रजिस्ट्रेशन के लिए EPFO/ESIC/LIN/UDYOG ADHAR के तहत रजिस्टर होना चाहिए|

एम्प्लायर को इस योजना के तहत NAPS पोर्टल पर रजिस्टर होना चाहिए|

एम्प्लायर का आधार कार्ड लिंक्ड बैंक अकाउंट होना चाहिए|

Apprentice Eligibility

जो भी अपरेंटिस स्टूडेंट के लिए भी कुछ शर्ते और पालन करना होगा|

अपरेंटिस प्राप्त करने वाला स्टूडेंट का एम्प्लायर के साथ अप्रेंटिसशिप के लिए कॉन्ट्रैक्ट होना बेहद आवश्यक है|

इसके अलावा स्टूडेंट मान्यता प्राप्त आईटीआई पास होना चाहिए|

naps scheme in hindi

कोई भी ऐसा ट्रेनी जो आईटीआई के साथ ट्रेनिंग भी ले रहा हो|

कोई ऐसा विद्यार्थी जो की pmkvy/ mes के द्वारा ट्रेनिंग प्राप्त की हो वह भी इस योजना के तहत योग्य माने जाते है|

National Apprenticeship Promotion Scheme Registration

नेशनल अप्रेंटिसशिप प्रमोशन स्कीम के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए National Apprenticeship Promotion Scheme Registration इस लिंक का उपयोग करे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *